Home विविध उर्दना तिराहे में ट्रक-बाईक टकराने से युवक की मौत

उर्दना तिराहे में ट्रक-बाईक टकराने से युवक की मौत

by SUNIL NAMDEO EDITOR

रायगढ़। हादसे के लिए अभिशप्त कहे जाने वाले शहर के उर्दना तिराहे में ट्रक और बाईक भिड़ने से एक युवक इस कदर जख्मी हुआ कि 3 हॉस्पिटल्स जाने के बाद भी उसकी असमय मौत हो गई। युवक बंजारी मन्दिर से पूजा कर घर वापस लौट रहा था। कोतवाली पुलिस ने ट्रक जब्त करते हुए चालक को गिरफ्तार किया है।


हादसे की विवेचना कर रहे सहायक उपनिरीक्षक अमरनाथ शुक्ला ने बताया कि जिला मुख्यालय से लगे कोतरा रोड थानांतर्गत ग्राम कलमी निवासी भूपति सिदार का 25 वर्षीय बेटा परमानंद सिदार बीते शुक्रवार घर से मोटर सायकिल (क्रमांक – सीजी 13 पी 6985) लेकर बंजारी माता के दर्शन के लिए निकला था। घरघोड़ा रोड में ग्राम तराईमाल स्थित बंजारी मन्दिर में पूजा-अर्चना कर पमानंद घरवापसी के लिए निकला। शाम तकरीबन 4 बजे उर्दना तिराहे पहुंचने वाले परमानंद को जिंदल में कोयला अनलोड कर वापस ओडिशा जा रहे ट्रक (क्रमांक – ओडी 35 जी 5599) के लापरवाह चालक रत्नाकर ने अपनी चपेट में ले लिया।


उर्दना तिराहे में भारी वाहन की गिरफ्त में आने से अनियंत्रित बाईक से गिरते ही परमानंद के शरीर के अंदरूनी हिस्सों में चोटें आने पर वह असहाय पड़ा रहा। वहीं, घटना स्थल पर लोगों की भीड़ लगते ही आवागमन प्रभावित होने पर 112 नंबर डायल कर सूचना दी गई। कुछ देर में एम्बुलेंस आने पर युवक को मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल ले जाया गया तो प्राथमिक उपचार के बाद उसकी हालत में लगातार गिरावट को देख डॉक्टर्स ने रेफर कर दिया। ऐसे में परमानंद को मेट्रो अस्पताल ले जाया गया, मगर वहां भी दशा को खतरे के दायरे में देख चिकित्सकों ने बाहर भेज दिया।


बदहवास सिदार परिवार ने परमानंद को शहर के अपेक्स हॉस्पिटल में एडमिट कराया, जहां सघन इलाज शुरू होने के बावजूद जीवन और मृत्यु के मध्य संघर्षरत युवक ने आखिरकार दम तोड़ दिया। जिला चिकित्सालय में पोस्टमार्टम के बाद शव को अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंपने वाली कोतवाली पुलिस ने ट्रक को जब्त करते हुए आरोपी रत्नाकर को भादंवि की धारा 304 ए के अपने शिकंजे में कसा है।

You may also like