Home रायगढ़ न्यूज हेवलेट पैकर्ड कंपनी को देना होगा लैपटॉप का हर्जाना

हेवलेट पैकर्ड कंपनी को देना होगा लैपटॉप का हर्जाना

by SUNIL NAMDEO EDITOR

रायगढ़ (सृजन न्यूज)। उपभोक्ता आयोग ने नया लैपटॉप के 18 मर्तबे खराब होने के मामले में पीड़ित के पक्ष में अहम फैसला दिया है। फरियादी के लैपटॉप को विनायक कम्प्यूटर्स पूरी तरह दुरुस्त करेगा या फिर उसे बंगलुरू की हेवलेट पैकर्ड कंपनी नया लैपटॉप देगी। यही नहीं, पीड़ित को मानसिक अभित्रास और वाद व्यय भी दिलाने की पहल हुई है।

                             न्यायालयीन सूत्रों के मुताबिक शहर के बेलादुला निवासी प्रकाश चन्द्र मिश्रा ने विगत 17 सितंबर 2020 को अपने बच्चे की पढ़ाई के लिए रेलवे स्टेशन रोड के नायक बाड़ा स्थित अंकित नायक के विनायक कम्प्ययटर्स से 33 हजार रुपए में नया लैपटॉप खरीदा था। दुकानदार ने लैपटॉप की क्वालिटी को बेहतर बताते हुए सालभर की वारंटी का दावा भी किया था, मगर चौथे रोज यानी 20 सितंबर को लैपटॉप में खराबी आ गई।

18 मर्तबे दुकान में खुला लैपटॉप

                      प्रकाश जब लैपटॉप को लेकर विनायक कम्प्यूटर्स गया तो हार्डडिस्क में परेशानी होने पर उसे बदल दिया गया। कुछ दिन के बाद चित्र नहीं दिखने पर लैपटॉप फिर दुकान पहुंचा तो रैम बदला गया। इस तरह जब नए लैपटॉप के 18 मर्तबे खुलने पर मदरबोर्ड में खराबी आई और प्रकाश ने दुकानदार से न्यू लैपटॉप की मांग की तो प्रोपराइटर ने उसे नहीं दिया, बल्कि बंगलुरू की हेवलेट पैकर्ड इंडिया सेल्स प्रायवेट लिमिटेड के जिम्मे सौंप दिया। यही वजह है कि प्रकाश ने इंसाफ के लिए अपने अधिवक्ता के माध्यम से जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष आयोग का दरवाजा खटखटाया।

ग्राहक सेवा में कमी का निकला केस

                           उपभोक्ता आयोग अध्यक्ष छमेश्वर लाल पटेल तथा सदस्य द्वय राजेन्द्र कुमार पांडेय और श्रीमती राजश्री अग्रवाल ने इस मामले में दोनों पक्षों की दलीलों एवं सबूतों के मद्देनजर ग्राहक सेवा में कमी पाए जाने पर आखिरकार हेवलेट पैकर्ड इंडिया सेल्स कंपनी को आदेश दिया है कि वे 45 रोज में प्रकाश चन्द्र मिश्रा के त्रुटिहीन लैपटॉप को ठीक से बनाएं,  नहीं तो उन्हें नया लैपटॉप दें या उसकी खरीदी कीमत को 6 प्रतिशत वार्षिक ब्याज की दर से साधारण ब्याज से वापस करें। साथ ही 3 हजार रुपए मानसिक अभित्रास और वाद व्यय के तौर पर 2 हजार भी दें।

You may also like