Home छत्तीसगढ़ सांसद देवेंद्र ने संभाली संबलपुर में बीजेपी की चुनावी कमान

सांसद देवेंद्र ने संभाली संबलपुर में बीजेपी की चुनावी कमान

by SUNIL NAMDEO EDITOR

रायगढ़ (सृजन न्यूज)। राज्यसभा सांसद रायगढ़ राजपरिवार के राजा देवेंद्र प्रताप इन दिनों ओडिशा में चुनावी कमान संभाले हुए हैं। छत्तीसगढ़ में लोकसभा चुनाव के बाद पार्टी ने उन्हें अब ओडिशा में हो रहे विधानसभा और लोकसभा के चुनाव में संबलपुर लोकसभा और आठमाल्लिक विधानसभा की जिम्मेदारी दी है। रियासतकाल के समय रायगढ़ की सीमा अभी के ओडिशा में स्थित बरगढ़ तक थी, इस लिहाज से भी रायगढ़ के राजपरिवार को ओडिशा में अपनत्व मिलता रहा है। रायगढ़ राजघराना जो पहले संबलपुर रियासत का हिस्सा था आज भी ओड़िशा में रायगढ़ राजपरिवार की धनक है। सांसद देवेंद्र प्रताप मोदी की गारंटी और भाजपा नेतृत्व को लेकर लोगों के बीच में लगातार प्रचार कर रहे हैं। वह लोगों को यह बता रहे हैं कि यदि भाजपा ओडिसा विधानसभा में आई तो स्थानित्व को जोर देगी और केंद्र में लगातार तीसरी बार भाजपा की सरकार बनती है तो ओड़िशा को विशेष सुविधा दी जाएगी जिससे वह देश के मानचित्र में अपनी अलग पहचान बना सके। देवेंद्र प्रताप सिंह की बैठकों में लोगों की भीड़ इस बात का गवाह है कि लोग उन्हें सुनना पसंद कर रहे हैं । राजा देवेंद्र ओड़िया और हिंदी दोनों भाषाओं में अपनी बात लोगों के बीच रख रहे हैं। वह सीधा कह रहे हैं कि भाजपा ही एक ऐसी पार्टी है जहां आम कार्यकर्ता को पूरा सम्मान दिया जाता है। ओडिशा के बेटी ही आज पूरे देश की प्रथम नागरिक राष्ट्रपति है वह अपना उदाहरण प्रस्तुत करते हैं कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था की पार्टी उन्हें सांसद बनाएगी। वह पार्टी के लिए अपना कार्य करते रहे जिस पर पार्टी ने उन्हें उनके मेहनत का फल दिया। देश में और कोई ऐसी पार्टी नहीं है जहां आम कार्यकर्ता का सम्मान हो। वे लोगों को यह बता रहे हैं कि देश हित में सारे बड़े निर्णय भारतीय जनता पार्टी ही कर सकती है।

पूरे ओडिशा में है एंटी इनकंबेंसी
सांसद देवेंद्र प्रताप सिंह अपने भाषण में लगातार इस बात का उल्लेख कर रहे हैं कि बीजेपी के नेता और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक अब बुजुर्ग हो चले हैं और उनके हिस्से के सारे निर्णय कोई पांडियन जी ले रहे हैं। पांडियन पहले अधिकारी थे लेकिन लालफीताशाही छोड़कर जब सफेद चोला पहन नेता बने हैं तब से पार्टी में ही उनको लेकर गुटबाजी चरम पर है। नवीन बाबू को देखकर कई बड़े नेता कुछ बोल नहीं पाते पर टीस बढ़ती ही जा रही हैं । स्थानीय जनता में भी अब पांडियन के आने से सरकार के लिए एंटी इनकंबेंसी का माहौल है। लोगों के बीच में यही एक बड़ा फैक्टर है, की उनका नेता अब अपने लोगों की न सुनकर किसी अधिकारी की सुन रहा है।

25 को है वोटिंग, लगातार ले रहे है बैठक
ओडिशा में बीजेडी लगातार 5 बार से सत्ता में हैं इस वजह से बीजेपी इस बार ओडिशा और ऐसे राज्यों में ताकत से चुनाव लड़ रही है जहां स्थानीय दल सत्ता में है। इस वजह से हर उस नेता को जो उस राज्य में प्रभावशाली हो सकता है को जिम्मेदारी दी जा रही है। इसी कड़ी में सांसद देवेंद्र प्रताप को भी ओड़िशा की जिम्मेदारी मिली। संबलपुर लोकसभा सहित ओडिशा के कुछ और सीटों में 25 मई को वोटिंग होनी है, वहां राजा देवेंद्र प्रताप अपनी सक्रियता बनाए हुए हैं।

छत्तीसगढ़ में स्टार प्रचार के बाद ओडिशा
छत्तीसगढ़ के लोकसभा चुनाव में देवेंद्र प्रताप को स्टार प्रचारक बनाया गया था बस्तर सहित पूरे छत्तीसगढ़ में प्रचार करने के बाद पार्टी ने संबलपुर लोकसभा जहा से केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान चुनाव लड़ रहे हैं, साथ ही आठमल्लीक विधानसभा से संजीव साहू भाजपा के प्रत्याशी हैं वहां संगठन को मजबूत करने के साथ साथ जमीनी स्तर पर पार्टी को मजबूत करने 10 दिनों से देवेंद्र प्रताप संबलपुर लोकसभा क्षेत्र में काम कर रहे हैं।

मोदी की गारंटी है ओडिशा के विकास का मार्ग
छत्तीसगढ़ में मोदिकी गारंटी का हर वो वादा पूरा किया गया है जो 3 महीने की सरकार में असंभव था इसी बात को लेकर सांसद देवेंद्र ओडिशा विधानसभा चुनाव में भाजपा के वादों को बता रहे हैं जिनमे छत्तीसगढ़ के तर्ज पर धान खरीदी और महतारी वंदन के तर्ज पर सुभद्रा योजना चालू करने के वादों को हर व्यक्ति तक पहुंचा रहें हैं ।

You may also like