Home विविध मां के प्रेमी की दिनदहाड़े चाकू से हत्या कर नाबालिग बेटा फरार

मां के प्रेमी की दिनदहाड़े चाकू से हत्या कर नाबालिग बेटा फरार

by SUNIL NAMDEO EDITOR

रायगढ़। एक नाबालिग युवक द्वारा अपनी मां के प्रेमी पर दिनदहाड़े चाकू से ताबड़तोड़ हमला करते हुए उसे मौत के घाट उतारने के बाद फरार होने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। यह हत्याकांड  सारंगढ़ में रेशम विभाग के सामने हुआ। डॉग स्क्वॉड और फोरेंसिक टीम के साथ घटना स्थल का जायजा लेने वाली पुलिस सीसीटीवी फुटेज खंगालते हुए मुल्जिम की सरगर्मी से तलाश कर रही है।


                                                                        इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार बनिया पारा सारंगढ़ में रहने वाला अभिषेक केशरवानी आत्मज श्रीराम केशरवानी (40 वर्ष) जय स्तंभ चौक के पास श्रीराम जनरल स्टोर संचालित करता था। अभिषेक शादीशुदा था और सारंगढ़ के बिलासपुर रोड स्थित रेशम विभाग के सामने एक और मकान बना रखा था। शुक्रवार दोपहर रेशम विभाग के पास वाले घर के सामने अभिषेक पर किसी ने चाकू से जानलेवा प्रहार किया और नौ दो ग्यारह हो गया। ऐसे में खून से लथपथ अभिषेक की चीख चीत्कार सुनकर जब राहगीर रुके, तब तक हमलावर भाग चुका था। गंभीर रूप से सांसें लेने वाले अभिषेक को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। मृतक के पेट और पीठ में 5 से 6 जगह चाकू से हमले के निशान थे।


                                                                 प्रतिष्ठित कारोबारी अभिषेक केशरवानी की दिनदहाड़े हत्याकांड से सारंगढ़ दहल उठा। लोग तरह-तरह की बातें करते हुए इसे व्यापारिक लेनदेन तक कहते रहे। फिर, घटना के पीछे की जब असलियत सामने आई तो मामला विवाहेत्तर संबंध का निकला। दरअसल, कचहरी चौक के पास किराए के मकान में रहने वाली 41 वर्षीया एक विवाहिता ने पुलिस को यह कह दिया कि अभिषेक का कत्ल किसी और ने नहीं, बल्कि उसके ही 17 बरस के नाबालिग बेटे बाबू (परिवर्तित नाम) ने किया है और वारदात में उसका एक दोस्त भी शामिल है। महिला की माने तो अभिषेक के साथ उसका अंतरंग संबंध था। दोनों मोबाइल फोन से अक्सर बातें करने के साथ व्हाट्सएप में चेटिंग भी करते थे। बाबू को अपनी मां के अफेयर की भनक लगी और उसने चेटिंग देखी तो भड़क गया। बाबू अपनी मां की आबरू से खिलवाड़ करने वाले को सबक सिखाने की ताक में रहने लगा था।


                                                                      सूत्रों की माने तो अभिषेक शुक्रवार को बाबू को रेशम विभाग के पास इसलिए बुलाया था ताकि दोनों बैठकर आपस में बातें कर सके। बाबू अपने एक दोस्त के साथ मोटर सायकिल से गया भी था। बातचीत के दौरान विवाद होने पर गुस्से से बौखलाए बाबू ने आव देखा न ताव और मौका पाते ही चाकू से अभिषेक पर हमला कर दिया। वहीं, जब सहायता के लिए आवाज लगाने वाला रक्तरंजित अभिषेक जमीन पर गिरा तो बाबू अपने साथी के साथ बाईक से उड़न छू हो गया। बहरहाल, महिला द्वारा अपने बेटे बाबू पर अभिषेक की हत्या का आरोप लगाने के बाद हरकत में आई पुलिस अब फरार आरोपी को धरदबोचने के लिए घटना स्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे का फुटेज खंगाल रही है। वहीं, मोबाइल लोकेशन ट्रेस करते हुए उसके छिपने के संभावित ठिकानों पर लगातार दबिश भी दे रही है। सारंगढ़ पुलिस भादंवि की धारा 302 के तहत मुकदमा पंजीबद्ध करते हुए जांच पड़ताल कर रही है।

You may also like