Home छत्तीसगढ़ एमडीएमए, कोकिन के साथ 1 अंतर्राज्यीय और महिला सहित 4 आरोपी गिरफ्तार

एमडीएमए, कोकिन के साथ 1 अंतर्राज्यीय और महिला सहित 4 आरोपी गिरफ्तार

by SUNIL NAMDEO EDITOR

रायपुर (सृजन न्यूज़)। निजात अभियान के तहत रायपुर पुलिस की ने फिर एक बड़ी कार्यवाही को अंजाम दिया है। खम्हारडीह थाना क्षेत्र स्थित धोेतरे मैरिज गार्डन एवं मंदिर हसौद क्षेत्र स्थित सैमरॉक ग्रीन होटल से नशे के कारोबार का भंडाफोड़ हुआ है। मुल्जिम चिराग एवं महिला आरोपी पैडलर थे। यही नहीं, आरोपी स्वयं की पहचान छिपाने के उद्देश्य से नेटफ्लिक्स के वेब-सीरिज मनी हाईस्टसे प्रभावित होकर सीरीज के किरदारों की तरह अपने नाम रखे थे। प्रकरण का मुख्य सरगना आयुष अग्रवाल है, जिसे प्रोफेसर के नाम से संबोधित किया जाता था। दिल्ली निवासी महेश सिंग खडगा ही एमडीएमए एवं कोकिन का सप्लायर निकला। खास बात यह है कि नशे के व्यापार के लिए व्हॉट्सएप ग्रुप बनाकर। ग्राहकों से सम्पर्क और लेन-देन होता था। आरोपियों के कब्जे से 17 अलग – अलग छोटे जिप पॉलिथीन में रखें 2100 मिलीग्राम एमडीएमए एवं 6600 मिलीग्राम कोकिन, इलेक्ट्रानिक तराजू, 8 मोबाईल फोन, नगदी रकम 86,000 रूपये, 3 सोने की चैन, लैपटॉप, आईपेड, 3 एटीएम कार्ड, सिम कार्ड तथा ऑडी कार क्रमांक डी एल/02/सी ए टी/5505 जब्त किया गया है, जिसकी कीमत 50 लाख आंकी गई है।

             वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह के दिशा निर्देश पर रायपुर पुलिस द्वारा निजात अभियान के तहत नशे के विरूद्ध विशेष अभियान चलाया जा रहा है, जिसमें समस्त थाना एवं एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट की टीम द्वारा लगातार कार्यवाही की जा रही है। नारकोटिक्स एक्ट पर प्रभावी कार्यवाही करने हेतु एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट की विशेष टीम का गठन किया गया है, साथ ही समस्त थाना प्रभारियों को नशे की सामग्री बिक्री करने वालों एवं सप्लाई करने वालों पर कठोर कार्यवाही करने निर्देशित किया गया है। इसी तारतम्य में एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट अंतर्गत गठित नारकोटिक्स सेल की टीम को सूचना प्राप्त हुई कि थाना खम्हारडीह क्षेत्रांतर्गत कचना नाला पास स्थित एक होटल में कुछ व्यक्ति रूके है, जो अपने पास प्रतिबंधित मादक पदार्थ एमडीएमए (methylenedioxymethamphetamine) एवं कोकिन रखकर अपने चारपहिया वाहन में प्रतिबंधित मादक पदार्थ बिक्री करने की फिराक में घूम रहे हैं। एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट की टीम द्वारा बना योजना के अनुसार टीम का 1 सदस्य ग्राहक बनकर एमडीएमए ड्रग्स एवं कोकिन खरीदने हेतु पैडलर से सम्पर्क कर उनके संबंध में जानकारी एकत्रित कीइसके पश्चात् अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर लखन पटले, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक क्राईम संदीप मित्तल, नगर पुलिस अधीक्षक विधानसभा केशरी नंदन नायक एवं उप पुलिस अधीक्षक क्राईम संजय सिंह द्वारा प्रभारी एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट तथा थाना प्रभारी खम्हारडीह को आरोपियों को प्रतिबंधित मादक पदार्थ के साथ रंगे हाथ गिरफ्तार करने हेतु निर्देशित किया गया। 

            एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट तथा थाना खम्हारडीह पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार धोेतरे मैरिज गार्डन के एक कमरे में रेड कार्यवाही के दौरान कमरे में 2 व्यक्ति उपस्थित थे, जिन्होंने पूछताछ में अपना नाम कुसुम हिंदुजा एवं चिराग शर्मा होना बताया। टीम के सदस्यों द्वारा उनकी तलाशी लेने पर उनके पास छोटे जिप पॉलिथीन में प्रतिबंधित मादक पदार्थ कोकीन एवं एक इलेक्ट्रानिक तराजू रखा होना पाया गया। उनके साथियों के संबंध में कड़ाई से पूछताछ करने पर उनके द्वारा अपने एक साथी आयुष अग्रवाल को सेमरॉक ग्रीन होटल तथा एक साथी महेश सिंग को भी रायपुर में रूकना बताया गया। तदुपरांत टीम के सदस्यों द्वारा आयुष अग्रवाल एवं महेश सिंग को भी पकड़ा गया। चारों आरोपियों से कड़ाई से पूछताछ करने पर उनके द्वारा एमडीएमए एवं कोकिन को दिल्ली से लाना एवं रायपर में घूम-घूमकर बिक्री करना बताया गया। आरोपी महेश सिंग खडगा दिल्ली का निवासी है वह दिल्ली से प्रतिबंधित मादक पदार्थ एमडीएमए एवं कोकिन लाकर आयुष अग्रवाल को देता है और आयुष अपने पैडलर कुसुम हिंदुजा एवं चिराग शर्मा के माध्यम से मांग के आधार पर लोगों को उपलब्ध कराते है।

            आरोपी नेटफ्लिक्स के वेब-सीरिज मनी हाईस्ट से प्रभावित होकर स्वयं की पहचान छिपाने एवं पुलिस से बचने के उद्देश्य सीरिज के किरदारों के नाम पर अपने नाम जैसे प्रोफेसर (आयुष अग्रवाल), लूसीफर (कुसुम हिंदुजा), बर्लिन एवं अन्य रखें थे और  सभी एक-दूसरे को इन्हीं नामों से सम्बोधित करते थे। सीरिज में मुख्य सरगना का नाम प्रोफेसर रहता है, जिस पर प्रकरण में मुख्य आरोपी आयुष अग्रवाल को प्रोफेसर कहा जाता था। चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 17 छोटे जिप पॉलिथीन में रखें 2100 मिलीग्राम एमडीएमए और 6600 मिलीग्राम कोकिन, इलेक्ट्रानिक तराजू, 8 मोबाईल फोन, 86,000 रूपये, सोने की 3 चैन, लैपटॉप, आईपेड, 3 एटीएम कार्ड, 1 सिम कार्ड तथा ऑडी कार क्रमांक डी एल/02/सी ए टी/5505 जुमला कीमती लगभग 50 लाख रूपये जप्त कर उनके विरूद्ध थाना खम्हारडीह में धारा 21, 22 नारकोटिक्स एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर कार्यवाही कीई है। आरोपी आयुष अग्रवाल के विरूद्ध थाना तेलीबांधा में मारपीट, आरोपी चिराग शर्मा के विरूद्ध थाना न्यू राजेन्द्र नगर में मारपीट तथा महिला आरोपी कुसुम हिंदुजा के विरूद्ध थाना खम्हारडीह में थाना 295 भादवि. का अपराध पंजीबद्ध है। प्रकरण में धोतरे मैरिज गार्डन एवं सैमरॉक ग्रीन होटल में लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेजों का अवलोकन किया जा रहा है।

पुलिस के हत्थे चढ़े मुल्जिमों में कुसुम हिंदुजा पिता भागचंद हिंदुजा (23 साल) निवासी एलआईजी 40 अवंति विहार शंकर नगर थाना खम्हारडीह रायपुर, चिराग शर्मा पिता अरूण कुमार शर्मा (25 साल) वार्ड नं 22 संतोषी मंदिर चौक पुरानी बस्ती तिल्दा नेवरा, आयुष अग्रवाल पिता दिनेश अग्रवाल (27 साल) निवासी ई 424 समता कालोनी गोयल नर्सिंग होम के पीछे रायपुर और  महेश सिंग खडगा पिता हीरासिंग खडगा (29 साल) निवासी हाउस नम्बर 411 ब्लाक नं 18 खम्हारडीह रायपुर है जो वर्तमान में मालवी नगर खिडकी एक्सटेंशन पंचशील विहार दिल्ली में रहता है।  इस कार्यवाही में निरीक्षक श्रुति सिंह थाना प्रभारी खम्हारडीह, एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट से प्रभारी परेश पाण्डेय, उनि. सतीश पुरिया, उनि. मुकेश सोरी, सउनि. मोह. कय्यूम, प्र.आर. नोहर देशमुख, रविकांत पाण्डेय, चिंतामणी साहू, महेन्द्र राजपूत, अनुप मिश्रा, आर. राजिक खान, आशीष राजपूत, राहुल शर्मा, घनश्याम साहू, विकास क्षत्री, रवि तिवारी, मुनीर रजा, लालेश नायक, नितेश सिंह राजपूत, अभिषेक सिंह तोमर, म.आर. बबीता देवांगन तथा थाना खम्हारडीह से उनि. मनोज पटेल, प्र.आर. सचिन पाण्डेय, आर. सबरूद्दीन खान, अखिलेश साहू, आर. एल्किना मसीह एवं थाना कोतवाली से आर. कंसन रजा तथा थाना तेलीबांधा से आर. ज्योति कुर्रे की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

You may also like